Stree Swabhiman Scheme Benefits & More Other Details

By | October 7, 2018

स्त्री स्वाभिमान योजना ! पाएं पूरी जानकारी और जाने इसके फायदे। – सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार ने 27 जनवरी 2018 को महिला कल्याण हेतु एक नई योजना का शुभारंभ किया।इस नई योजना का नाम स्त्री स्वाभिमान योजना (Stree Swabhiman Scheme) जिसे दिल्ली के सीरीफोर्ट ऑडिटोरियम में आयोजित सीएससी महिला VLE (village level entrepreneur)  सम्मेलन में घोषित किया गया। इस सम्मेलन का उद्घाटन सूचना एवं प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद ने किया। स्त्री स्वाभिमान योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के लिए पूर्ण स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करना है। Stree Swabhiman Scheme योजना के तहत पूरे भारत में लड़कियों एवं महिलाओं के बीच पर्यावरण अनुकूल सेनेटरी पैड वितरण करना है। इस योजना के  तहत दूर दराज के इलाकों में सेनेटरी पैड के उत्पादन के लिए इकाई भी स्थापित किया जाएगा । जिससे के रोजगार के मौके भी हासिल होंगे।

Stree Swabhiman Scheme

सीएससी यानी common service center के देखरेख में केंद्र सरकार द्वारा लागू इस योजना के तहत सम्पूर्ण भारत में इस परियोजना को जमीनी स्तर पर लागू करने के लिए केंद्र सरकार एवं सीएससी हर संभव प्रयास कर रही है। इस योजना के तहत सीएससी द्वारा निर्मित  पर्यावरण के अनुकूल एवं सस्ती सेनेटरी पैड वितरित किया जाएगा। Stree Swabhiman Scheme योजना के तहत सीएससी द्वारा देश भर में सेनेटरी पैड निर्माण इकाइयां स्थापित किया जाना है जिसका संचालन महिला कर्मचारियों के द्वारा ही होगा। केंद्र सरकार का यह क़दम मासिक धर्म से संबंधित स्वास्थ्य और स्वच्छता के बारे में लोगो को जागरूक करने में सहायक होगा। स्त्री स्वाभिमान योजना महिलाओं के स्वास्थ्य के क्षेत्र में समर्पित एक बेहतरीन योजना है। खास कर गांव के दूर दराज के इलाके में जहां पर मासिक धर्म को आज भी समाजिक बुराई समझा जाता है। अज्ञानता की वजह से मासिक धर्म के समय स्वच्छ सेनेटरी पैड का उपयोग ना कर के गंदे कपड़े का उपयोग कई सारी बीमारियों की वजह भी बनता है। मौजूदा समय में देश भर में कई सारी कंपनियां सेनेटरी नेपकिन का उत्पादन करती है पर इनका बनाया हुआ सेनेटरी नेपकिन की कीमत इतनी होती है कि आम तौर पर गरीब तबके की लड़कियां एवं महिलाएं इस पैड का खर्च वहन नहीं कर पाती हैं। इसी को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार एवं सीएससी की योजना सस्ती एवं आसानी से उपलब्ध सेनेटरी नेपकिन समाज के अंतिम तबके तक की लड़कियों एवं महिलाओं तक पहुंचाना है। सेनेटरी पैड का उपयोग कर के वो संक्रमण एवं बीमारियों से बच सकती हैं।

आइये जानते हैं स्त्री स्वाभिमान योजना  – ( Stree Swabhiman Scheme ) से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण बातें।

  • सीएससी द्वारा निर्मित सेनेटरी पैड सस्ती एवं सुरक्षित है।
  • इस पैड का उपयोग करने से संक्रमण से सुरक्षा प्रदान होता है।
  • केंद्र सरकार इस योजना के द्वारा महिलाओं में मासिक धर्म से जुड़ी स्वास्थ्य एवं स्वच्छता के बारे में जागरूकता अभियान चला रही है।
  • इस योजना के तहत सेनेटरी पैड निर्माण के लिए जो इकाइयां स्थापित की जाएगी वो मुख्य रूप से अर्ध स्वचालित एवं मैनुअल प्रक्रिया से पैड का निर्माण करती है।
  • इस इकाई से पैड का उत्पादन सरल है।
  • इकाई की स्थापना भी परेशानी मुक्ति एवं सरल है।
  • सेनेटरी पैड की 1 इकाई से प्रतिदिन लगभग 1500-2000 सेनेटरी पैड का निर्माण हो सकता है।
  • 1 इकाई से 7-10 महिलाओं को रोजगार प्राप्त करने का अनुमान है।देश भर में फिलहाल 15 सेनेटरी पैड की इकाई कार्यरत है।
  • इस योजना  तहत 35 हज़ार नए रोजगार उत्पन्न होने की उम्मीद है।
  • इस योजना का उद्देश्य लड़कियों एवं महिलाओं को अच्छे स्वास्थ्य एवं स्वच्छता सुनिश्चित करना है।
  • Stree Swabhiman Scheme योजना का लाभ देश की सभी धर्म एवं जाती की महिलाएं ले सकती हैं।
  • इस योजना का उद्देश्य सिर्फ महिला सशक्तिकरण को ही बढ़ावा देना नहीं बल्कि सशक्तिकरण के साथ साथ महिला को स्वस्थ्य भी बनाना है।
  • Stree Swabhiman Scheme के तहत सरकार का उद्देश्य मासिक धर्म के साथ साथ महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी हुई तमाम जानकारी के बारे में जागरूक करना है।
  • केंद्र सरकार का कहना है कि यह योजना महिलाओं के अधिकार से जुड़ी हुई योजना है।
  • गरीब तबके की महिलाओं तक सेनेटरी पैड की पहुंच से वे भी गंदे कपड़े के इस्तेमाल से बच सकती है।
  • पैड के इस्तेमाल से वे भी स्वस्थ्य एवं बेहतर जीवन जी सकती हैं।
  • इस योजना के तहत मिलने वाले सेनेटरी पैड वातावरण के अनुकूल होते हैं जिससे कि इन सेनेटरी पैड का उपयोग करने के बाद आसानी से नष्ट कर सकते हैं।
  • सीएससी द्वारा निर्मित सेनेटरी पैड उपयोग होने के बाद पर्यावरण को दूषित नहीं करते। इन्हें आप आसानी से नष्ट कर सकती हैं।

Check More Updates –

Stree Swabhiman Scheme Benefits

सेनेटरी पैड आप तक कैसे पहुंचेगा?

  • सीएससी के ग्रामीण स्तर के कार्यकर्ता अपने आस पास के गांव एवं शहरों के स्कूलों की लड़कियों के बीच मुफ्त में सेनेटरी पैड का वितरण कर रहे हैं एवं मासिक धर्म के बारे में जागरूक भी कर रहे हैं।
  • अगर आप चाहे तो अपने निकटतम सीएससी केंद्र से भी सेनेटरी पैड ले सकते है।
  • आप सीएससी केंद्र से 500 रुपए दे कर साल भर तक सेनेटरी पैड ले सकते हैं।

Stree Swabhiman Yojana Objectives

Hop to Apply for Stree Swabhiman Yojana

स्त्री स्वाभिमान योजना Stree Swabhiman स्कीम में भागीदार बनने के लिए आप सीएससी पर रजिस्टर कर सकते हैं।

  • सीएससी पर रजिस्टर के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन देना होगा
  • आवेदन देने के लिए सीएससी के ऑफिशियल वेबसाइट https://register.csc.gov.in  पर विजिट करें।
  • वेबसाइट खुलने के बाद एक फॉर्म दिखेगा। आप अपना आधार नंबर एवं नाम दर्ज करें।
  • आपने जो आधार नंबर दर्ज कराया है उसके सत्यापन के लिए आपको e-kyc के माध्यम से आधार सत्यापन कराना होगा।
  • सत्यापन के लिए कोई एक विकल्प का चयन करें।
  • इसके बाद proceed पर क्लिक करें।
  • आपका एप्लिकेशन प्रोसेस में चला जाएगा ।
  • एप्लिकेशन प्रोसेस से आगे की प्रक्रिया आप वेबसाइट के द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन कर के कर सकते हैं।
  • अगर आप को Stree Swabhiman स्कीम योजना से जुड़ी कोई भी जानकारी प्राप्त करनी हो, नजदीकी सीएससी केंद्र के बारे में पता करना हो या कोई सुझाव देना हो तो आप स्त्री स्वाभिमान योजना द्वारा दिए गए टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।
  • हेल्पलाइन नंबर है 180030003468

अगर आप सेनेटरी पैड की इकाई स्थापित करना चाहते हैं तो भी आप इस हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको भी कोई ऐसी जगह का पता हो जहां पर औरतें आज भी सेनेटरी पैड का उपयोग नहीं करती है तो आप सीएससी को सूचित कर सकते हैं।

आप अपने आसपास के लोगों को भी मासिक धर्म से जुड़ी हुई गलत धारणाएं को दूर करने के बारे में बताएं। उन्हें बताएं कि ये कोई शर्म की चीज नहीं है बल्कि एक प्राकृतिक अवस्था है।

We hope you like details information about Stree Swabhiman Scheme, स्त्री स्वाभिमान योजना details information if you have any query just comment on below box to get update or comment on below box for more updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *