Kisan Vikas Patra Scheme in Hindi – किसान विकास पत्र

By | October 16, 2018

किसान विकास पत्र योजना क्या है? कैसे प्राप्त करें इस योजना का लाभ? – Kisan Vikas Patra भारतीय डाक विभाग ने एक सुरक्षित निवेश योजना को लागू किया है। इस योजना का नामKisan Vikas Patra Scheme in Hindi किसान विकास पत्र है। हालांकि ये एक पुरानी योजना है जिसे 1988 में भारत सरकार के द्वारा शुरू किया गया था, पर योजना को अपने मुख्य उद्देश्य में सफलता नहीं मिलते देख सरकार ने 2011 में इस योजना को बंद कर दिया। मौजूदा भारत सरकार के सुझाव के बाद डाक विभाग द्वारा फिर से किसान विकास पत्र योजना को आवश्यक बदलाव के बाद लागू किया गया। Kisan Vikas Patra Details, Kisan Vikas Patra Tax Benefit, Kisan Vikas Patra Type, Kisan Vikas Patra Interest Rate, Kisan Vikas Patra Form, Kisan Vikas Patra Online की जानकारी देने का प्रयत्न किया है।

Kisan Vikas Patra Scheme

Kisan Vikas Patra Scheme in Hindi

कैसे करें Kisan Vikas Patra में निवेश? क्या है निवेश के फायदे? क्या आप इस योजना में निवेश के योग्य हैं? क्या ये पूर्णतः सुरक्षित है? आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से किसान विकास पत्र से जुड़ी सारी जानकारी विस्तार से बताएंगे। आप बस ध्यानपूर्वक अंत तक इस आर्टिकल को पढ़ें। आपके सारे प्रश्नों का उत्तर इस आर्टिकल में मिल जाएगा। Check More – Mission Indradhanush YojanaMukhyamantri Amrutam Yojana

Kisan Vikas Patra Details

किसान विकास पत्र एक सुरक्षित निवेश प्रक्रिया है, जिसके तहत निवेशकों को एक तय समय सीमा के बाद उनकी निवेश की हुई राशि का दुगना राशि उन्हें प्राप्त होता है। निवेश की न्यूनतम सीमा 1000 रुपया है जबकि अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है। पर, यदि कोई निवेशक 50 हज़ार से अधिक का निवेश करता है तो उसे अपना पैन कार्ड नंबर प्रस्तुत करना होगा एवं 10 लाख से अधिक का निवेश होने पर आय का स्त्रोत भी बताना होगा। निवेश की हुई राशि की परिपक्वता अवधि (Maturity period) 100 महीने यानी 8 साल 4 महीने की है। यदि कोई निवेशक 1000 रुपए का निवेश करता है तो परिपक्वता अवधि के बाद निवेशक को 2000 रुपए प्राप्त होगा। इस योजना में प्राप्त वार्षिक ब्याज दर 7.8 प्रतिशत है। निवेश करने के लिए किसी भी डाक घर से संपर्क कर किसान विकास प्रमाण पत्र हासिल कर सकते हैं। ये प्रमाण पत्र निवेश का प्रमाण पत्र होगा। किसान विकास पत्र के तहत भारत के सभी डाक घर में निवेश की सुविधा उपलब्ध है।

Kisan Vikas Patra Online

Kisan Vikas Patra Scheme को मुख्य रूप से किसानों एवं निम्न आय वर्ग के लोगों को ध्यान में रख कर लागू किया गया है। सामान्यतः बाज़ार में उपलब्ध निवेश से जुड़ी सारी योजनाएं जोखिम भरा होता है एवं निवेश की वापसी की कोई गारंटी नहीं होती है। इसलिए सरकार ने किसान विकास पत्र के माध्यम से एक सुरक्षित निवेश का विकल्प उपलब्ध कराया है। सरकार का उद्देश्य निम्न आय वर्ग के लोगों को भी सुरक्षित निवेश की सुविधा प्रदान कराना है। किसान विकास पत्र योजना एक सरकारी निवेश की योजना है जिस वजह से इस योजना में निवेश पूर्णतः सुरक्षित है एवं निवेश की वापसी भी सुनिश्चित है।

Kisan Vikas Patra Type (पत्र के प्रकार)

चलिए हम आपको किसान विकास पत्र से जुड़ी मुख्य एवं सहायक बातें बताते है।

  • किसान विकास पत्र ( Kisan Vikas Patra Scheme ) एक तरह का प्रमाण पत्र है जिसे आप अपनी सुविधानुसार निश्चित राशि डाक घर में जमा करा कर प्राप्त कर सकते हैं।
  • प्रमाण पत्र प्राप्त करते समय जमा की हुई राशि आपको एक निश्चित अवधि के बाद दोगुनी हो कर मिलेगी।
  • किसान विकास पत्र( Kisan Vikas Patra Scheme ) एक सुरक्षित एवं सरल निवेश प्रक्रिया है।
  • कोई भी 18 वर्ष से अधिक आयु का भारत का नागरिक इस योजना में निवेश कर प्रमाण पत्र हासिल कर सकता है।
  • कोई वयस्क व्यक्ति यदि अपने 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे के लिए प्रमाण पत्र प्राप्त करना चाहता है तो,  वो भी कर सकता है।
  • अवयस्क के लिए निवेश कर प्रमाण पत्र प्राप्त करने से भविष्य में उस बच्चे को आर्थिक सहायता प्राप्त हो जाएगा।
  • एक प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए आप अपने क्षमता अनुसार राशि निवेश कर सकते हैं।
  • न्यूनतम राशि 1 हज़ार रुपया जबकि अधिकतम 50 हज़ार रुपया है।
  • आप जितनी राशि निवेश करेंगे उसका दोगुना राशि आपको 100 महीने बाद प्राप्त हो जाएगा।
  • लंबी अवधि के निवेश के लिए ये एक बेहतरीन विकल्प है।
  • निवेश करने के 2 से ढाई वर्ष बाद आप अपने निवेश की मूलधन निकल सकते हैं।
  • लेकिन मूलधन निकालने के बाद आपको प्राप्त होने वाले ब्याज दर में कटौती हो सकती है।
  • मूलधन की पूरी राशि परिपक्वता अवधि से पहले तभी निकाल सकते है जब प्रमाण पत्र कार्ड धारक की मृत्यु हो जाए।
  • निवेशक अपने प्रमाण पत्र को एक डाक घर से दूसरे डाक घर में स्थानांतरित (Transfer) कर सकता है।
  • किसान विकास प्रमाण पत्र को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के नाम पर भी ट्रांसफर किया जा सकता है।
  • इसके लिए शर्त ये है कि जिस व्यक्ति के नाम पर ट्रांसफर किया जा रहा है वो भी इस योजना के लिए योग्य हो।
  • Kisan Vikas Patra Scheme के तहत प्राप्त राशि पर किसी भी प्रकार का टैक्स छूट प्राप्त नहीं है।
  • किसान विकास प्रमाण पत्र का उपयोग बैंक से पर्सनल लोन या कृषि लोन प्राप्त करते समय सिक्योरिटीी (Security) के तौर पर किया जा सकता है।

Kisan Vikas Patra Tax Benefit

किसान विकास पत्र Kisan Vikas Patra Scheme  में निवेश हेतु योग्यता

  • किसान विकास पत्र Kisan Vikas Patra Scheme में निवेश के इच्छुक व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से अधिक होना चाहिए।
  • 18 वर्ष से अधिक आयु का व्यक्ति किसी 18 वर्ष से कम आयु वाले किशोर के लिए भी निवेश कर प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकता है। इसके लिए डाक घर के समक्ष वयस्क एवं किशोर दोनों की समस्त जानकारी एक साथ आवेदन में देना अनिवार्य है।
  • इच्छुक निवेशक का भारत का नागरिक होना अनिवार्य है।
  • दो व्यक्ति Joint Account का आवेदन दे कर एक साथ प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं। ज्वाइंट अकाउंट  आवेदन देने से ये प्रमाणित हो जाएगा कि दोनों व्यक्ति एक साथ प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए सहमत है।

किसान विकास प्रमाण पत्र आवेदन करने हेतु आवश्यक दस्तावेज

Kisan Vikas Patra Scheme document में निवेश करने हेतु आवेदन  करते समय आवेदक को नीचे बताई गई सारे दस्तावेज डाक घर में अपने साथ ले कर जाना होगा।

  • दो पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • आधार कार्ड
  • आइडेंटिटी कार्ड (राशन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेन्स आदि.)
  • स्थाई पते का प्रमाण (बिजली बिल, टेलीफोन बिल, बैंक पासबुक आदि )
  • अगर निवेश 50 हज़ार रूपये से अधिक का है तो उस स्थिती में पैन कार्ड अनिवार्य हैं.

Kisan Vikas Patra Form

किसान विकास पत्र –Kisan Vikas Patra में निवेश हेतु आवेदन प्रक्रिया

निवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया बिल्कुल ही सरल है।

  • ऊपर बताए गए सारे दस्तावेज अपने साथ ले कर डाक घर में जाएं।
  • डाक घर से आवेदन फॉर्म

( Form-A) प्राप्त करें।

  • फॉर्म में मांगी गई जानकारी ध्यानपूर्वक भरें।
  • अगर आप किसी एजेंट के माध्यम से आवेदन कर रहे हैं तो एजेंट को Form-A 1 भरना होगा।
  • फॉर्म भरने के बाद सारे दस्तावेज फॉर्म के साथ संलग्न करें एवं जमा करें।
  • फॉर्म एवं दस्तावेज की सत्यता जांचने के बाद आपको निवेश की राशि देनी होगी।
  • आप अपने निवेश का भुगतान किसी भी माध्यम से कर सकते हैं।
  • अगर आप नकद भुगतान करते हैं तो आपको निवेश का प्रमाण पत्र उसी समय प्राप्त हो जाता है।
  • प्राप्त प्रमाण पत्र को सुरक्षित रखें।
  • प्रमाण पत्र की आवश्यकता 100 महीने बाद निवेश की राशि प्राप्त करते समय प्रमाण पत्र ले कर जाना अनिवार्य है।
  • अगर आपका प्रमाण पत्र चोरी या कहीं खो जाता है तो संबंधित डाक घर को सूचित कर के प्रमाण पत्र पुनः प्राप्त किया जा सकता है।
  • प्रमाण पत्र के साथ आपको एक आइडेंटिटी स्लिप (Identity Slip) भी प्राप्त होगा।
  • इस identity slip  में वो सभी जानकारियां दी रहेंगी जिससे यह पता चल सके कि किसी प्रमाण पत्र का लाभार्थी कौन है। इसी के साथ यह भी दिया रहेगा कि कब इस प्रमाण पत्र को कैश कराया जा सकता है. इस स्लिप में पोस्टमास्टर का हस्ताक्षर रहेगा.

Check More – Stand Up India loan

दोस्तों, ये थी किसान विकास पत्र Kisan Vikas Patra की विस्तार पूर्वक जानकारी। अगर आप भी लंबे समय के लिए कोई सुरक्षित एवं सरल निवेश करना चाहते है तो आप आसानी से किसान विकास पत्र में निवेश कर सकते हैं। आपका निवेश पूर्णतः सुरक्षित होगा एवं निवेश की वापसी भी तय होती है। निवेश करने के लिए जल्द ही अपने नजदीकी डाकघर से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *